Zomato share में आ सकती है 50% की तेज़ी, विदेशी ब्रोकरेज फर्म

 Zomato Stock Price

Zomato share price में आ सकती है 50% की तक की तेज बढ़त विदेशी ब्रोकरेज फर्म Emkay Global ने दी खरीदने की सलाह, जानते है किन कारणों से दी buy करने की सलाह. 
 
Zomato के शेयर Emkay की रिपोर्ट आने के बाद NSE पर 6.46 फीसदी चढ़कर 61.80 रुपये के स्तर पर बंद हुए.
zomato share
zomato share
Zomato share price
एमके ग्लोबल (Emkay Global) ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक जोमैटो के शेयर (Zomato Shares) जो की एक ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी है  अपने निवेशकों को अगले एक साल में करीब 50% तक की कमाई करा सकते हैं। एमके ग्लोबल (Emkay Global) के मुताबिक, अगले दस सालों में ऑनलाइन फूड डिलीवरी बिजनेस 7 गुना तक बढ़ सकता है, जिससे इस इंडस्ट्री की बड़ी कंपनियों जैसे जोमैटो (Zomato ) को फायदा होगा।
 
 

Emkay Global on Zomato

एमके ग्लोबल (Emkay Global) ने कहा कि वर्तमान में फूड डिलीवरी मार्केट अभी केवल दो बड़ी कंपनियां हैं। अपने मजबूत ब्रांड नेम के जरिये जोमैटो ने करीब 50 फीसदी मार्केट शेयर पर कब्ज़ा कर रखा है साथ ही कंपनी ब्लिंकिट और हाइपरप्योर के माध्यम से अपने बाजार साइज में वृद्धि करने जा रही है कंपनी के मुनाफे में आने के बाद अगले कुछ वर्षों में लगभग 40% की वार्षिक वृद्धि दर से शुद्ध लाभ बढ़ने की उम्मीद है।
इसके साथ, एमके ग्लोबल (Emkay Global) ने Zomato के शेयरों में बाय रेटिंग की रेटिंग दी है। और एक साल की समय सीमा में 90 रुपये का लक्ष्य तय किया है। यह कंपनी के मौजूदा बाजार मूल्य से करीब 50 फीसदी ज्यादा है।

Zomato stock price

एमके ग्लोबल (Emkay Global) ने यह टारगेट प्राइस ऐसे वक्त दिया है, जब इस साल अब तक Zomato के शेयर की कीमत में करीब 56.28 फीसदी की गिरावट आई है। हालांकि, आज यानी गुरुवार यानी 29 सितंबर को एमके की खबर के बाद जोमैटो के शेयरों में मजबूती देखी गई और दिन में 6.46 फीसदी की तेजी के साथ 61.80 रुपये पर बंद हुआ। कंपनी ने अगले दो वर्षों में 40 करोड़ डॉलर के निवेश का प्रस्ताव रखा था जिसे अब घटाकर 32 करोड़ डॉलर कर दिया गया है। इससे कंपनी का खर्चा कम होगा और उसे घाटे से बाहर निकलने में मदद मिलेगी।
 

यह भी पढ़ें : wipro share price : में भारी गिरावट जानिए रिजल्ट और ब्रोकर्स की राय

Zomato (CFO)

आपको बता दें कि Zomato ने अगले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही तक घाटे को खत्म करने का लक्ष्य रखा है। कंपनी के मुख्य वित्तीय अधिकारी (CFO) अक्षत गोयल ने अगस्त में विश्लेषकों के साथ एक साक्षात्कार में कहा कि कंपनी की वित्तीय स्थिति (कैश फ्लो) पहले से ही अच्छी है उसका लक्ष्य अब ब्रेकइवन को छूना है। 
 
 
उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कंपनी लॉस कम हो कर सिर्फ 150 करोड़ रुपये रह गया है। गोयल ने कहा की अगला हमारा लक्ष्य जोमैटो को ब्रेकइवन पर लाना है और हमारा यह मानना ​​है कि हम लक्ष्य के बहुत करीब है। 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2023 के बेस्ट बैंकिंग स्टॉक्स Avalon Technologies के IPO के बारे में जाने सब कुछ। GMP etc. PAN-Aadhaar Card Link करने की डेडलाइन आगे बढ़ी जानिए नई तारीख SBI की इन 4 म्यूचुअल फंड स्कीम्स ने दी जबरदस्त रिटर्न How to Activate UAN? UAN कैसे एक्टिव करें?